‘मोदी सरकार के बुरे दिन दूर नहीं’

लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने 500 और 1000 रूपये के नोट बंद करने के केन्द्र सरकार के कदम को तानाशाही और अहंकार से भरा बताते हुए आज कहा कि देश के करोड़ों गरीबों और मेहनतकशों को इससे पीड़ा हो रही है और जब सरकार इस पीड़ा को समझ ना पाये तो उसके बुरे दिन दूर नहीं। मायावती ने एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा के इस तानाशाही और अहंकारी व्यवहार की सजा जनता उसे जरूर देगी। ये आर्थिक आपातकाल लगाने वाला फैसला है। इससे देश के करोडों गरीबों और मेहनतकशों को पीडा हो रही है। उनकी पीडा को अपना समझकर बसपा ने केन्द्र के फैसले पर कल कडी प्रतिक्रिया दी थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब देश की शासक पार्टी देशवासियोंे और आम नागरिकों की पीडा नहीं समझ पाये तो एेसी सरकार के बुरे दिन दूर नहीं हैं। यह जनता में आम चर्चा भी है।’’ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस फैसले को बसपा के लिए आर्थिक आपातकाल करार दिया था, जिस पर मायावती ने कहा कि शाह को शायद मालूम नहीं है कि जमीन से जुडे़ बसपा के छोटे बडे़ कार्यकर्ताआें ने कठिन से कठिन समय में भी अपनी पार्टी को आर्थिक तकलीफ नहीं होने दी है और वे पूरे तन, मन, धन से बसपा मूवमेंट (आंदोलन) को सहयोग करते रहे हैं, जिससे पूरा देश वाकिफ है। बसपा सुप्रीमो ने केन्द्र और भाजपा को सलाह दी कि वह इस अपरिपक्व में जो गंभीर कमियां हैं, उन्हें छिपाने की बजाय जल्द दूर करने का प्रयास करे। UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

 Source: Republic News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *